वेट लोस सलाद

Advertisements

वेट लोस सलाद सबसे लोकप्रिय व्यंजनों में से एक है जिसे लोग इंटरनेट पर खोजते हैं।

माना जाता है कि कोई भी सलाद वजन घटाने में मदद करेगा।

सच्चाई यह है कि वजन घटाने के लिए सभी सलाद नहीं बनाए जाते हैं।

यदि आपके सलाद में ऐसी सामग्री है जिनमें कार्बोहाइड्रेट या अधिक मात्रा में वसा होता है तो वह वेट लोस सलाद नहीं मना जा सकता।

लेकिन, एक सलाद जिसमें ज्यादा कच्ची सब्जियां और बहुत कम या नगण्य कार्बोहाइड्रेट होता है, वजन घटाने के लिए बेहतरीन होता है।

रेसिपी केयर द्वारा वजन घटाने वाली सलाद रेसिपी पर इन दिनों काफी ध्यान दिया जा रहा है। ये रेसिपी वसा या कार्ब्स से पूर्णतः मुक्त है।

इस सलाद में विशेष प्राकृतिक तत्व होते हैं जो आपके मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाते हैं और इंसुलिन के उछाल को भी नियंत्रित करते हैं।

मेटाबोलिज्म बढ़ने से वजन जल्दी कम करने में काफी मदद मिलती है.

इस रेसिपी को में निचे समझा रहा हु

वेट लोस्स सलाद कैसे बनाएं?

देसी रेसिपी देसी लोगो के लिए.

सामग्री

2 कप बारीक कटी गोभी

1 कप बारीक कटा हुआ चुकंदर।

1 बड़े आकार का खीरा। बारीक कटा हुआ।

आधा कप अंकुरित मूंग की दाल।

दालचीनी की 1 चुटकी (अगर आपको बवासीर है तो इसका इस्तेमाल बहुत कम करे )

एप्पल साइडर सिरका का 1 छोटा चम्मच।

1 चम्मच सेब साइडर सिरका (एप्पल साइडर विनेगर )

1 चुटकी काली मिर्च पाउडर (वैकल्पिक)

कला नमक पाउडर के 1-2 चुटकी।

वेट लोस्स सलाद कैसे बनाये।

एक कटोरी में गोभी, चुकंदर, खीरा और मूंग की दाल मिलाएं।

एप्पल साइडर सिरका के 1tsp ऊपर से डाले और अच्छी तरह सलाद में मिलाये।

काली मिर्च, दालचीनी और गुलाबी नमक डालकर सब कुछ अच्छी तरह फिर से मिला लें।

थोड़े देर के लिए फ्रीज़ में रख दे ताकि खाने में मजा ज्यादा आये.

इस सलाद के लाभ

वजन घटाने के लिए सलाद

1- यह सलाद कार्बोहाइड्रेट में कम होता है और इसमें कोई वसा नहीं होता है। इसलिए इसका सेवन करने के बाद आपके शरीर में कोई ग्लूकोज या इंसुलिन का उछाल नहीं होगा।

2- एप्पल साइडर विनेगर और दालचीनी, सलाद में, दोनों अपने इंसुलिन नियंत्रण गुणों के लिए जाने जाते हैं। ये मेटाबॉलिज्म को बेहतर करते हैं और आपके शरीर में इंसुलिन का उछाल भी रोकते हैं। इंसुलिन का उछाल आमतौर पर तब होता है जब आप कुछ खाते हैं।

यदि आप कार्बोहाइड्रेट खाते हैं तो इंसुलिन के स्तर में वृद्धि होती है। इन्सुलिन जैसा आपको मालूम है की शरीर की ऊर्जा के लिए जरूरी है. इन्सुलिन ही शरीर में ग्लूकोस को ऊर्जा में बदलने के काम आता है.

पर एक बात और महत्वपूर्ण है की इन्सुलिन बाद बार बढ़ने से आपकी कोशिकाएं इन्सुलिन के प्रति विरक्त होती है. मतलब ये की जितने इन्सुलिन में आज काम चल रहा है आपका। उतना इन्सुलिन कुछ वर्षो बाद शरीर में मौजूद ग्लूकोस के लिए कम पड़ेगा।

इसलिए शरीर इन्सुलिन का उत्पादन बढ़ाएगा.

और इन्सुलिन एक मोटापा बढ़ने वाला पदार्थ है
और इन्सुलिन के प्रति ये प्रतिरोध आगे चल कर डायबिटीज टाइप २ बन कर उभरता है. इसलिए इन्सुलिन का बार बार रोकना जूरी है.

इस प्रकार वेट लोस सलाद आपके  वजन घटाने, मधुमेह और वसा घटाने के लिए अच्छा है।

3- काली मिर्च ए[1] अच्छा एंटीऑक्सीडेंट है। यह मेटाबॉलिज्म को भी बेहतर बनाता है, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है और पाचन के लिए अच्छा होता है।

4- चुकंदर – इस पूरे सलाद में अगर कार्बोहायड्रेट किसी में है तो वो है चुकंदर।  लेकिन हमने चुकंदर उसमे पाए जाने वाले मैग्नीशियम, फॉस्फोरस और फोलेट की भरपाई की वजह से मिलाया है जो शरीर के लिए बहुत जरूरी है.

यह पाचन में सुधार करता है और आपकी कोशिकाओं को इंसुलिन के प्रति अधिक संवेदनशील बनाता है। इस प्रकार यह इस सलाद को मधुमेह के रोगियों के लिए सुरक्षित बनाता है।

यदि आपको पित्ताशय की पथरी या गुर्दे की पथरी है तो आपको सलाद में चुकंदर नहीं जोड़ना चाहिए।

5- काला नमक पोटेशियम से भरा होता है। इससे आपके शरीर में सोडियम-पोटेशियम बैलेंस रखने में मदद मिलती है।

सलाद में गुलाबी नमक पाचन में सहायक होता है और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट की कार्यक्षमता में सुधार करता है।

यह पोटेशियम की मात्रा के कारण रक्तचाप के रोगियों के लिए सामान्य नमक का एक बड़ा विकल्प है। हालांकि, इसमें सामान्य नमक की तुलना में लगभग बराबर मात्रा में सोडियम होता है।